आराजकता और अत्याचार की सीमा लांघ चुका है सीधी-डाॅ.राजेश

आराजकता और अत्याचार की सीमा लांघ चुका है सीधी-डाॅ.राजेश
जी हां हम जैसे सीधी को शांत समझते आ रहे थे अब ऐसी सीधी नही रही, आये दिन बलात्कार, हत्याएं और लूट-पाट की घटनाएं सामने आ रही है इन सभी के पीछे कही न कही प्रदेश काग्रेंस सरकार की नाकामी और प्रशासन की लपारवाही उजागर करती है।
आज जमोड़ी थाना के मधुरी ग्राम में रात्रि में अवैध रेत का परिवहन कर रहे वाहन के घर में घुस जाने से अंदर सो रही महिला सावित्री कुशवाहा की मौत और दो युवतियां घायल होने की घटना पर खुद अवैध रेत के कारोबारी द्वारा के्रन मगांकर अपना वाहन उठा कर ले गये घर में यह तक नही देखा कि यहा किसी का घायल शरीर पड़ा है। घटना स्थल से महज एक किलोमीटर के भीतर ही थाना परिसर है 100 नम्बर डायल करने पर न ही 100 नम्बर में फोन उठाया गया और न ही पुलिस थाना जमोड़ी के अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा फोन उठाया गया। यह घटना महज मामूली घटना नही है अपराध है, हत्या है जिसकी जिम्मेदार पुलिस प्रशासन व प्रदेश की सरकार है। ंअब जब मृतक महिला के परिजनो द्वारा सड़क पर प्रदर्शन किया जा रहा है तब प्रशासन द्वारा अपनी गलती न मानकर लगातार घायलों के परिजनों पर दबाब बनाया जा रहा है कि प्रदर्शन खत्म करें। जबकि अत्यधिक शर्म की बात यह है कि जाम के किनारे से आलाअधिकारी की गाड़ी निकल गयी और वहां उन्होने दो मिनट रूक कर यह तक भी पूछना उचित नही समझा कि यहा क्या हो रहा है।
लगातार सीधी से अवैध रेत का करोबार चल रहा है यहा तक कि प्रदेश के मुखिया सहित तमाम अधिकारियों को इस बात की सूचना होने के बाद भी कोई कार्यवायी न होना अत्यधिक शर्म की बात है। पूरी रात बिना नम्बर के वाहन से रेत का अवैध कारोबार हो रहा है। ऐसा लगता है कि खुद प्रदेश की सरकार और प्रशासन की मिलीभगत से यह करोबार दिनो दिन फल-फूल रहा है।
पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष डाॅ.राजेश मिश्र ने प्रदेश सरकार व प्रशासन से मांग की है कि सीधी में अवैध रेत का कारोबार जो कि अधिकांश बिना नम्बर के वाहनों से हो रहा है तत्काल बंद किया जाए। सोन नदी के किनारे बसे ग्रामों में जहां अवैध रेत परिवहन हो रहा है वहा छापेमारी कर अवैध वाहन जब्त किये जाए। पीडित के परिवार का मकान तत्काल ठीक कराकर परिवार को सहायता राशि दी जाए एवं घायल लड़कियों की उचित उपचार की व्यवस्था की जाए।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close