*प्रेम प्रसंग के चलते हाथ पैर बांधकर कुल्हाड़ी से की गई थी हत्या,24 घंटे के अंदर तितली हत्याकांड की गुत्थी सुलझी,सभी आरोपी गिरफ्तार*

*सीधी
प्रेम प्रसंग के चलते हाथ पैर बांधकर कुल्हाड़ी से की गई थी हत्या,24 घंटे के अंदर तितली हत्याकांड की गुत्थी सुलझी,सभी आरोपी गिरफ्तार*

सीधी*प्रेम प्रसंग के शक में नाबालिग युवक की हत्या करने की घटना को अमिलिया पुलिस ने सुलझाते हुए 24 घंटे के अंदर ही दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
उल्लेखनीय है कि बीते दिनों नाबालिग युवती से एक नाबालिग युवक के साथ प्रेम संबंध होने के शक में युवती के प्रेमी ने अपने एख अन्य साथी के साथ मिलकर नाबालिग युवक की हत्या कर दी थी जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
इस हत्याकांड में शामिल दो युवकों में से प्रमुख अभियुक्त तो बालिग है परंतु उसका साथ देने वाला दूसरा अभियुक्त अभी भी नाबालिग ही हैं।

ये था पूरा मामला
फरियादी रामायण पटेल ने 19 मई को थाना अमिलिया में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका नाबालिक लड़का नरेंद्र पटेल 16 वर्ष 17 मई से कहीं गायब है। उक्त रिपोर्ट पर थाना अमिलिया में अपराध क्रमांक 336/20 धारा 363 आईपीसी कायम कर विवेचना में लिया। विवेचना के दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि पुष्पराज पटेल पिता अर्जुन प्रसाद पटेल 24 साल निवासी तितली ने अपने नाबालिक दोस्तों के साथ मिलकर गुमशुदा बालक नरेंद्र पटेल की हत्या कर उसके शव को गांव से 5 किलोमीटर दूर कड़ियार- डमक रोड के बीच पुल के नीचे छुपा दिया है।
पुलिस अधीक्षक आरएस बेलवंशी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए जिस पर थाना अमिलिया प्रभारी दीपक सिंह बघेल एवं स्टाफ ने मौके पर पहुंच के पंचनामा कार्यवाही कर शव का पीएम कराकर शव को परिजनों को सुपुर्द किया।

ऐसे की गई हत्या
इसके बाद मामले के संदेहियों की पता तलाश की गई। तलाश के दौरान मामले के आरोपी पुष्पराज पटेल को हिरासत में लिया गया जिसने घटना के बारे में बताया कि उसकी गर्लफ्रेंड से मृतक नरेंद्र पटेल का संबंध था जिसकी जानकारी लगते ही नरेंद्र पटेल को जान से मारने का प्लान बनाया था। प्लान के मुताबिक 17 मई को आरोपी पुष्पराज ने अपने दोस्तों को अपने पंप हाउस पर बुलाया साथ ही मृतक को भी वहां पर बुलाया सभी को दारू पिलाया व दारू पिलाने के बाद आरोपी ने मृतक के दोनों हाथ पैर रस्सी से बांधकर उसकी गर्दन को कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी व उसके शव को छुपा दिया था। साथ ही अन्य सबूत को भी मिटा दिया था। विवेचना दौरान आज आरोपी से हत्या में प्रयोग लाई गई कुल्हाड़ी जप्त कर उसके साथ दूसरे नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया गया तथा न्यायालय पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।*
साक्ष्य को जला दिया था
गिरफ्तार किए गए आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने हत्या के दौरान चादर तथा अपने कपड़ों में खून लगने के कारण शव को ठिकाने लगाने के उपरांत उन्हें जला दिया था तथा मृतक के मोबाइल को भी साक्ष्य मिटाने के लिए जला दिया गया था।*
उक्त कार्यवाही पर थाना प्रभारी अमिलिया दीपक बघेल, सहायक उपनिरीक्षक समय लाल वर्मा, सहायक उपनिरीक्षक रामहित वर्मा, सहायक उपनिरीक्षक लालमणि बंसल, आरक्षक धीरेंद्र बागरी, विवेक द्विवेदी, सुरेंद्र सिंह, पुष्पेंद्र सिंह, सतीश कुशवाहा, अखिलेश तिवारी , संदीप व प्रभात का अहम योगदान रहा

*रीवा संभाग ब्यूरो चीफ विवेक पांडे की रिपोर्ट*

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close